Human Rights

शेयरधारकाें काे भेजे गए अपने पहले पत्र में, हमारे संस्थापकों ने Google के मकसद के बारे में बताया था. उन्होंने लिखा था कि Google का मकसद "उन सेवाओं को तैयार करना है जो ज़्यादा से ज़्यादा लोगों की ज़िंदगी में बड़ा सुधार कर सकती हैं." हम इसी मकसद के तहत Google में काम करते हैं. हम टेक्नाेलॉजी की ताकत में भरोसा रखते हैं. हमें पता है कि इसमें दुनिया भर में सकारात्मक असर डालने की ताकत है.

हम जाे भी काम करते हैं उसमें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्य मानवाधिकाराें का पालन किया जाता है. हम यूनिवर्सल डिक्लेरेशन ऑफ़ ह्यूमन राइट्स और इसे लागू करने वाली संधियों में बताए गए अधिकाराें के पालन करने को लेकर प्रतिबद्ध हैं. साथ ही, यूनाइटेड नेशंस गाइडिंग प्रिंसिपल्स ऑन बिज़नेस ऐंड ह्यूमन राइट्स और ग्लाेबल नेटवर्क इनिशिएटिव प्रिंसिपल्स में दिए गए मानकाें को लागू करने का भी पूरा ध्यान रखते हैं.

टेक्नोलॉजी की ताकत का सक्रियता से इस्तेमाल कर मानवाधिकारों का पालन करने, उन्हें आगे बढ़ाने, और दुनिया भर के लोगों काे नए मौके देने के साथ-साथ, हम उभरती टेक्नोलॉजी को लेकर ज़िम्मेदारी से फ़ैसले लेने के लिए भी प्रतिबद्ध हैं.

शीर्ष पर वापस जाएं