तकनीक की मदद से छात्रों के विचारों को असलियत में बदलना

कल्पनाओं को जीवंत बनाने के लिए 826 Valencia और Google ने हाथ मिलाया है

सैन फ़्रैंसिस्को के टेंडरलोइन डिस्ट्रिक्ट में मौजूद 826 Valencia सेंटर में कुछ ऐसी खास बात है कि उसे करीब-करीब हर बार पलटकर देखने का मन ज़रूर करता है. आपको ऐसे स्टोर बहुत कम मिलेंगे जहां आप बोतल में बंद संदेश खरीद सकते हैं, विशालकाय स्क्विड की स्याही वाले पेन खरीद सकते हैं या एक अंदर बने दो मंजिला ट्रीहाउस (पेड़ पर बना घर) पर चढ़ सकते हैं. शहर भर के बच्चे स्कूल के बाद गोल्डन गेट एवेन्यू और लैवनवर्थ के पास बने सेंटर में जमा होते हैं और स्वयंसेवी शिक्षकों की मदद से अपनी कहानियां सुनाते हैं.

लेखन से जुड़ी इस गैर लाभकारी संस्था की अनुदान और मूल्यांकन निदेशक लॉरेन हॉल कहती हैं, “826 Valencia का मकसद बच्चों को लिखने के लिए प्रेरित करना है.” बच्चों में रचनात्मकता जगा कर यह संगठन “लेखन को ताकत हासिल करने के एक ज़रिए और तरीके के रूप में देखने में उनकी मदद करता है.” इस कोशिश की वजह से जुनून और उत्सुकता का माहौल पैदा होना लाज़मी है. असल में, जिस नज़रिए से यह गैर-लाभकारी संस्था साक्षरता की ताकत को देखती है, उसके लिए यह माहौल बहुत ज़रूरी है. इसका उद्देश्य बच्चों को सिर्फ़ लिखने के लिए प्रेरित करना भर नहीं है, बल्कि उन्हें इसके लिए उत्साहित करना भी है. इसलिए यह ज़रूरी है कि जैसे ही छात्र भीतर कदम रखें, वहां का माहौल उनकी कल्पनाओं को नई उड़ान दे.

व्यवसाय का चिह्न
दुकान स्कूली बच्चों की यात्रा
कक्षा चॉकबोर्ड

ये अनोखा माहौल किंग कार्ल नाम की मछली की दुनिया की सैर के किस्सों से प्रेरणा लेकर बनाया गया है. ये और टेंडरलोइन सेंटर दोनों ही सैन फ़्रैंसिस्को के मिशन डिस्ट्रिक्ट में बने मूल सेंटर की ही छोटी शाखाएं हैं. यह नया सेंटर Google.org से मिले $500,000 के इंपैक्ट चैलेंज ग्रांट की मदद से ही बन पाया है. Google के कर्मचारियों की टीम भी इस मुहिम से जुड़ी. उन्होंने छात्रों के विचारों को साकार रूप देने की तकनीक का विकास करने के लिए साथ मिल कर काम किया.

छात्रों की कहानी के किसी नज़ारे को महसूस करने के लिए क्लिक करें, खीचें, स्क्रोल करें या ज़ूम करें.

दूसरी और तीसरी कक्षा में पढ़ने वाले स्थानीय छात्र हर हफ्ते टेंडरलोइन सेंटर में जमा होते. वे साथ मिल कर एक ऐसी दुनिया की कहानी लिखते, जो प्यार से चलती है. इस कहानी में हर बच्चा कुछ पंक्तियां लिखता जिसके हिसाब से वहां वहां मौजूद कलाकार, Tilt Brush की मदद से उनकी बताई गई दुनिया को उकेरता. तकनीक वाकई उनकी लिखी गई चीज़ों को नये आयाम दे रही थी.

किताब रिलीज़ होने की पार्टी में युवा लेखकों और उनके माता-पिता ने कहानी को खुद महसूस करके देखा. केवल एक स्मार्टफ़ोन से चलने वाले आभासी वास्तविकता टूल Google कार्डबोर्ड के ज़रिए, उन्होंने महसूस किया कि 360-डिग्री VR में किसी नए ग्रह की सैर करना कैसा लगता है. वे पहली बार अपनी लिखी गई दुनिया के बारे में सिर्फ़ पढ़ने के बजाय, खुद उसमें मौजूद होने का एहसास कर पाए.

मार्शमैलो से बनी इस दुनिया में प्यार की हुकूमत चलती है. यहां के स्कूल में 30वीं कक्षा तक पढ़ाई होती है और लोग हमेशा वैसे ही पेश आते हैं जैसे वो होते हैं. आपको समय-समय पर टैको के बने ट्रक यहां-वहां उड़ते हुए दिख जाएंगे. अपनी कल्पना की गई चीजों को इस तरह से साकार होते देखने के बाद बच्चे बड़े उत्साह से आपस में बात करते हुए कह रहे थे -“ये मैंने लिखा था!” वो उस कहानी को लेकर बहुत खुश थे जो उन्होंने साथ मिल कर लिखी थी. बीच-बीच में तो वो अपने सामने मौजूद तस्वीर को छूने की कोशिश भी कर रहे थे, जैसे वह भी उतनी ही असली हो, जितना गोल्डन गेट ऐवन्यू के एक कोने में बने इस सेंटर में मौजूद सोलह फुट ऊंचा ट्रीहाउस.

अौर देखें:

शीर्ष पर वापस जाएं